Swachh Bharat

वेबसाइट नीति

कॉपीराइट नीति

राजभाषा विभाग पर प्रदर्शित सामग्री का हमारे पास मेल भेजकर उचित अनुमति प्राप्‍त करने के पश्‍चात नि:शुल्‍क पुनरूत्‍पादन किया जा सकता है। तथापि, सामग्री का पुनरूत्‍पादन यथार्थ रूप में किया जाना है और उनका उपयोग अपमानजनक या गुमराह करने के संदर्भ में न किया जाए। जहां कहीं भी सामग्री का प्रकाशन किया जाता या दूसरों को जारी किया जाता है तो स्रोत की अभिस्‍वीकृति दी जाए। तथापि, इस सामग्री को दोबारा उत्‍पादित करने की अनुमति तृतीय पक्ष की कॉपी राइट होने के रूप में नहीं मान्य होगा। ऐसी सामग्री का पुनरूत्‍पादन करने का अधिकार विभागों, सम्‍बन्धित कॉपीराइट धारकों से प्राप्‍त किया जाए।


गोपनीयता नीति

हम उपयोगकर्ताओं को जवाब देने के अलावा अन्य किसी भी उद्देश्य के लिए व्यक्तिगत जानकारी एकत्रित नहीं करते (उदाहरण के लिए, आपके प्रश्नों का उत्तर देने के लिए)| अगर उपयोगकर्ता एक ई-मेल एड्रेस या डाक पते के साथ एक प्रतिक्रिया फॉर्म भर कर और वेबसाइट के माध्यम से हमें भेज कर व्यक्तिगत जानकारी प्रदान करना पसंद करते हैं, तो हम उस सूचना का उपयोग उपयोगकर्ताओं के संदेश को उत्तर देने के लिए और उपयोगकर्ताओं द्वारा मांगी जानकारी उन्हें प्रदान कर उनकी सहायता करने के लिए करते हैं।


हाइपरलिंकिंग नीति

बाहरी वेबसाइटों/पोर्टल्स के लिए लिंक
इस वेबसाइट के कई स्थानों पर आपको अन्य वेबसाइटों/पोर्टल्स के लिंक मिलेंगे। ये लिंक आपकी सुविधा के लिए रखे गए हैं| यह विभाग लिंक हुए वेबसाइटों की सामग्रियों और विश्वसनीयता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है और उनमें व्यक्त विचारों का अनिवार्य रूप से समर्थन नहीं करता है। केवल वेबसाइट पर लिंक या इसकी प्रविष्टि की उपस्थिति किसी भी तरह के समर्थन के रूप में नहीं मानी जानी चाहिए। हम यह गारंटी नहीं दे सकते कि ये लिंक हमेशा काम करेंगे और लिंक किए गए पृष्ठों की उपलब्धता पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं है।

अन्य वेबसाइटों/पोर्टल्स पर विभाग के वेबसाइट की लिंक
किसी भी वेबसाइट/पोर्टल से हाइपरलिंक को इस साइट पर भेजने से पहले पूर्व-अनुमति की आवश्यकता होती है। इसके लिए अनुमति, उन पृष्ठों पर सामग्री की प्रकृति जहाँ से लिंक को दिया जाना है और हाइपरलिंक की सटीक भाषा को बताते हुए, हितधारक को अनुरोध भेजकर प्राप्त किया जाना चाहिए।


नियम और शर्तें

राजभाषा विभाग का डिजाइन, इसका विकास और प्रस्‍तुतीकरण राष्‍ट्रीय सूचना विज्ञान केन्‍द्र, भारत सरकार द्वारा किया जाता है।

य‍द्यपि इस राजभाषा विभाग की विषयवस्‍तु की यथार्थता और प्रचलन सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास किए गए हैं, इसका मतलब कानूनी बयान न समझा जाए या इसका उपयोग किसी कानूनी प्रयोजन के लिए न किया जाए। एनआईसी विषय वस्‍तु की यथार्थता, पूर्णता उपयोगिता के संबंध में अन्‍यथा उत्‍तरदायी नहीं है। प्रयोक्‍ताओं को किसी भी सूचना के सत्‍यापन की जांच संबंधित सरकारी विभाग (विभागों) और/या अन्‍य स्रोतों से करने, और राजभाषा विभाग में दी गई सूचना पर कार्य करने के पहले उपयुक्‍त व्‍यावसायिक परामर्श लेने का सुझाव दिया जाता है।

किसी भी हाल में सरकार या एनआईसी इस राजभाषा विभाग के उपयोग के सम्‍बन्‍ध में होने वाले खर्च, हानि या क्षति सहित, असीमित रूप में, अप्रत्‍यक्ष या परिणामी हानि या क्षति या कोई खर्च, हानि या क्षति जो भी उपयोग के कारण होता है, के लिए उत्‍तरदायी नहीं होगी।

अन्‍य वेबसाइटों के साथ संबंध, जिन्‍हें इस पोर्टल में शामिल किया गया है, उन्‍हें केवल जनता की सुविधा के लिए दिया जाता है। एनआईसी विषय वस्तुgओं या सम्ब द्ध वेबसाइटों की विश्ववसनीयता के लिए उत्‍तरदायी नहीं है और उनके अंतर्गत प्रकट दृष्टिकोण से अनिवार्य रूप से समर्थन नहीं करता है। हम सब समय ऐसे सम्‍बद्ध पृष्‍ठों की उपलब्‍धता की गारंटी नहीं दे सकते है।

ये निबंधन और शर्तें भारतीय कानूनों के अनुसार शासित और आशयित होंगे। इन निबन्‍धनों और शर्तों के अधीन उठने वाला कोई भी विवाद भारत की अदालत के विशिष्‍ट क्षेत्राधिकार में होगा।